Computer Essay in Hindi (कंप्यूटर पर निबंध 10 lines)

कंप्यूटर पर निबंध (Essay on computer)


कंप्यूटर पर निबंध :-
दोस्तो कंप्यूटर आज के जगत में बहुत ही महत्व है । आज का यह संसार बिना कंप्यूटर के नही चल सकता, कोई भी काम हो हम अब कंप्यूटर से ही करते है। कंप्यूटर का ये मतलब नही की सिर्फ CPU, मॉनिटर इत्यादि ही कंप्यूटर है आपको बता दे की आप के हाथ में फोन, कैलकुलेटर, स्मार्ट वॉच, घर में लगा एसी, टीवी, सभी कंप्यूटर का ही एक उदाहरण है लेकिन स्मान्यतः CPU और मॉनिटर को ही कंप्यूटर कहा जाता है । कंप्यूटर मुख्यतः 3 चरणों में काम करता है i) इनपुट (जैसे कीबोर्ड, माउस),प्रोसेस(CPU) और आउटपुट (मॉनिटर, प्रिंटर)। इसका उपयोग करना बहुत ही आसान होता है जिस से इसे बच्चे भी आसानी से चला लेते है।

कंप्यूटर की बढ़ती लोकप्रियता से सब प्रभावित होकर इसे सब सीखना चाहते है और खूब पैसा कमाना चाहते है। आपके कॉलेज या स्कूल में यदि आपको कंप्यूटर पर essay ya निबंध बोलने या लिखने को कहा गया है तो ये यह आर्टिकल सिर्फ आपके लिए है इस आर्टिकल हम आप के लिए कंप्यूटर पर निबंध देने वाले है और सिर्फ आप कंप्यूटर पर निबंध ही भी बल्कि और भी बहुत कुछ जानेंगे।

कंप्यूटर पर छोटे तथा बड़े निबंध (Essay on Computer in Hindi, 100, 150,200 , 300 word)

इस लेख के माध्यम से आपको बड़े, मध्यम aur छोटे निबंध बताए जाएंगे। सबसे पहले शुरू करते है छोटे निबंध से । निबंध 1 (कंप्यूटर पर निबंध 200 शब्दो में)


प्रस्तावना


कंप्यूटर एक ऐसी मशीन जिसने सबके जीवन के सभी कामों को लगभग असान कर दिया है। इस भाग दौर भरी जिंदगी में मानो कोई प्लेन का आविस्कार हो गया हो। कंप्यूटर आधुनिक युग की सबसे बड़ी उपलब्धियो में से एक है और उसमे इंटरनेट की खोज मानो कंप्यूटर की दुनिया में क्रांति ला दिया हो । कंप्यूटर का आविष्कार 1837 ई0 में इंग्लिश गणितज्ञ आविष्कार चार्ल्स बैबेज द्वारा प्रथम बार किया गया जिसके बाद से इलेक्ट्रॉनिक डिवाइसों को बढ़ावा मिला और आज तब से लेकर आज तक तकनीक की दुनिया में एक से बढ़कर एक खोज होते गए। कंप्यूटर में इंटरनेट के माध्यम से हम कोई भी जानकारी पल भर में ले सकते है ।

जरूर जाने

डेटाबेस क्या है हिंदी में( what is database in hindi)? पूरी जानकारी

कम्प्यूटर का इतिहास

पहले के कंप्यूटर उतनी प्रभावशील नही थे और बहुत ही ज्यादा समय और जगह लेते थे लेकिन आधुनिक कंप्यूटर अत्यधिक प्रभाव शाली और समय की बचत कराता है। सबसे पहला कम्प्यूटर का नाम एनिऐक (ENIAC) , इलेक्ट्रौनिक न्यूमेरिकल इंटीग्रेटर एंड कंप्यूटर का संक्षिप्त रूप, एक पहला आम-उद्देश्य इलेक्ट्रॉनिक कंप्यूटर था।
अववस्यकता

कंप्यूटर का ज्ञान आज के समय में बहुत ही जरूरी है क्यू की आज कल सभी चीजों को कंप्यूटरकृत किया जा रहा है बिना कंप्यूटर के अब जीवन की कल्पना भी नही किया जा सकता। आपको जानकर हैरानी होगी की अगर एक दिन के लिए कंप्यूटर और इंटरनेट बंद कर दिया जाए तोह अरबों रूपयो का नुकसान हो सकता है।
फायदे

कंप्यूटर के बहुत से फायदे है । किसी भी काम को आसान कर देना , घर बैठे देश दुनिया के खबर मिनटों में प्राप्त करना, अगर आपके पास पैसों की कमी है तो आप घर बैठें दुनिया के टॉप टीचर से कुछ भी सिख सकते है। इन्ही सब फायदे और सुगमता को देख कम्प्यूटर लोगो मे और भी लोकप्रियता और रुचि ला रही है।

निष्कर्ष

इंसानों के लिए जहा कंप्यूटर के इतने फायदे है वही साइबर क्राइम, अश्लील वेबसाइट जैसे कई नुकसान भी है । इसीलिए जरूरी है की आप कम्प्यूटर का उपयोग सही अर्थ में करे।

निबंध 2 (कंप्यूटर पर निबंध 500 शब्दो में )

प्रस्तावना

कंप्यूटर का आविष्कार पूरे मानव जाति के लिए एक क्रांति है। जरा सोचिए अगर कंप्यूटर नही होती तो आज जो हमलोग इतने आसानी से घंटो का काम जो मिनटों में कर रहे है वो कर पाते?? हमे ऑनलाइन की इतनी सुविधाएं मिल रही है क्या वो मिल पाती?? तो इसका जवाब है बिलकुल नहीं कंप्यूटर हमारे जीवन को सरल से भी सरल बना दिया है । यह पूर्व विज्ञानिको का एक बहुत बड़ा उपहार है हमारे लिए। इसकी व्यापकता दिन पर बढ़ती ही जा रही है चाहे वो रेलवे सेक्टर हो, बैंक सेक्टर हो गवर्नमेंट सेक्टर हो हर जगह इसका उपयोग व्यापक रूप से किया जा रहा है ।
कंप्यूटर का इतिहास:
कम्प्यूटर की उत्पति अचानक से नही हुई इसका विस्तार और विकास धीरे धीरे हुआ। सर्वप्रथम मैकेनिकल कम्प्यूटर का आविष्कार 1837 में चार्ल्स बैबेज द्वारा किया गया था जो की एक इंग्लिश गणितज्ञ थे। कंप्यूटर की 5 जेनरेशन है ।
प्रथम जेनरेशन, द्वितीय जेनरेशन, तृतीय जेनरेशन, चतुर्थ जेनरेशन और पांचवां जेनरेशन।
पहले के कंप्यूटर अत्यधिक बड़े और उर्जा खपत करने वाले होते थे फिर धीरे धीरे इन सब त्रुटियों को ध्यान में रखते हुए आविष्कार होते गए और नवीनतम कंप्यूटर आते गए। अभी जिस कंप्यूटर का हम उपयोग कर रहे है वो कंप्यूटर के पांचवे जेनरेशन का है।

कंप्यूटर काम कैसे करता है


कंप्यूटर का काम 3 चरणों में विभाजित है। यह तीन पहिए वाले चक्र पर काम करता है।
i)इनपुट
कंप्युटर में हम कीबोर्ड के माध्यम से इनपुट करते है।
ii) प्रोसेस

कीबोर्ड के माध्यम से इनपुट डाटा CPU मे प्रोसेस के लिए जाती है।
iii) आउटपुट

CPU इनपुट डाटा को प्रोसेस कर के मॉनिटर पर उसे आउटपुट के रूप में दिखता है

।कंप्यूटर इन्ही तीन सिद्धांतो पर पूरा काम करता है।

कंप्यूटर के प्रकार और घटक

कंप्यूटर को कई भागों में वर्गीकृत किया गया है जिनके नाम है –

पर्सनल कंप्यूटर, पैड, टैबलेट्स, लैपटॉप, मेनफ्रेम, सुपर कंप्यूटर, मोबाइल फोन इत्यादि जैसे अनेक नाम कंप्यूटर के है। आज कल तो कंप्यूटर के और भी कई प्रकार मार्केट में उपलब्ध हो रहे है।

  • कंप्यूटर के मुख्यत चार भाग है
  • कीबोर्ड , माउस
  • मॉनिटर, प्रिंटर
  • CPU ( सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट)
  • हार्ड डिस्क(HDD) , सॉलिड डिस्क (SSD)

कंप्यूटर के और भी बहुत पुर्जे होते है जो इन सभी घटकों को जोड़े रखता है।

कंप्यूटर के लाभ


कंप्युटर बहुत उपयोगी है जैसा की पहले ही बताया गया की अगर एक दिन के लिए कंप्यूटर न हो तो क्या हो सकता है इस से आप अंदाजा लगा सकते है की कंप्यूटर कितना उपयोगी और लाभदायक है हमारे जीवन में।

  • कंप्यूटर से काम आसान और बहुत जल्दी संपन्न होता है
  • रिकॉर्ड को लंबे समय तक रखा जा सकता है
  • कंप्यूटर से पैसे भी कमाया जा सकता है
  • कंप्यूटर में इंटरनेट की सहायता से कोई भी जानकारी मिनटों में मिलती है
  • अगर आपको कंप्यूटर की जानकारी है तो आपको कही पे भी नौकरी लग सकती है।

निष्कर्ष


कंप्यूटर एक मशीन है जो व्यक्ति को कही n कही जरूर आवश्यकता होती है। इसके कई फायदे है तो कई नुकसान है। दिन पे दिन साइबर क्राइम में वृद्धि हो रही है । लोगो के बैंक से फ्रॉड के जरिए लाखो रुपए निकाला जा रहा है। लड़की की तस्वीर इंटरनेट से निकाल कर इस तस्वीर को नग्न कर दिया जाता है और फिर उन्हें ब्लैकमेल किया जाता है। जिस कारण से दुनिया भर में डेली सैकरो लड़की खुदकुशी करती है। इसलिए हमे आवश्यकता है की हम कंप्यूटर का उपयोग सावधानी से करे।

लेख के बारे में
इस लेख और कंप्यूटर से जुड़ी कोई भी प्रश्न आपके मन में है तो आप हमे कॉमेंट बॉक्स के जरीए पूछ सकते है । धन्यवाद !!

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

1 . दुनिया का पहला कम्प्यूटर का नाम क्या था?
उत्तर- दुनिया का पहला कंप्यूटर का नाम Electronic Numerical Indicator and Calculator (ENIAC) tha ।

2 . दुनिया के पहले कंप्यूटर का भार कितना था?

उत्तर – लगभग 30 टन

3 भारत में कंप्यूटर के पिता कौन हैं?
उत्तर – विजय भटकर को भारत में कंप्यूटर के माना जाता है।

  1. भारत के सुपर कंप्यूटर का नाम क्या है?

उत्तर – परम ईशान और परम सिद्धि भारत के सुपर कंप्यूटर हैं।

5 दुनियां का सबसे फास्ट सुपर कंप्यूटर का नाम क्या है?
उत्तर:- फुगाकू (जापान)दुनिया का सबसे फास्ट सुपर कंप्यूटर है।

Raed also

One thought on “Computer Essay in Hindi (कंप्यूटर पर निबंध 10 lines)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *