वॉलीबॉल में कितने खिलाड़ी होते हैं | Volleyball mein kitne khiladi hote hain

Vollyball mai ketne kheladi hai kal hai

वॉलीबॉल में कितने खिलाड़ी होते हैं :- तो दोस्तो आपका स्वागत है हमारे इस आर्टिकल में तो जैसा की आप वॉलीबॉल का नाम सुना होगा या फिर आपने कही वॉलीबॉल खेला भी होगा , आगर आप देखो तो बहुत लोग वॉलीबॉल खेलते है लेकिन उनको ये नहीं पता है की वॉलीबॉल में कितने खिलाड़ी होते है, ये सब सवाल बहुत सारे परीक्षाओ में भी पूछा जाता है , आगर आपको पता नही है तो कोई बात नही आज के इस आर्टिकल में आपको पता लग जाएगा की वॉलीबॉल में कितने खिलाड़ी होते है। तो चलिए जानते है वॉलीबॉल में कितने खिलाड़ी होते है।

Volleyball game क्या होता है?

वॉलीबॉल एक बहुत ही पसंद करने वाला खेल है इस खेल में 2 टीम होती है और इस गेम में एक जाली का net होता है जो की center में लगा होता है और दोनो side एक एक टीम होती है। और एक वॉलीबॉल  🏐 होता है जिसे प्लेयर्स खेलते है। मैच शुरू करने के लिए एक टीम को वॉलीबॉल को उछलना पड़ता है दूसरे टीम की ओर और फिर दूसरा टीम के पेयर आपने फिंगर से उस वॉलीबॉल को उछलते है आपने विरोधी टीम को ये खेल ऐसे ही चलते रहता है जब तक बाल जमीन पर न गिर जाए।

Volleyball kaha ka national game hai

तो दोस्तो इस खेल को पूरी दुनिया में खेला जाता है क्योंकि ये बहुत ही मजेदार खेल है इस खेल को खेलने के बाद बहुत ही मजा आता है ,कभी आप भी ट्राई करे लेकिन बहुत सारे ऐसे भी देश है जहां पे वॉलीबॉल के राष्ट्रीय खेल बन चुका है। तो आप इसी से अंदाजा लगा सकते है की ये गेम कितना पसंदीदर होगा। तो चलिए जाते है कुछ देशों का नाम जहा का वॉलीबॉल राष्ट्रीय खेल है जैसे श्रीलंका, कंबोडिया, मलेशिया, ब्राज़िल, पोलैंड ,बुल्गारिया, इन सब देशों का राष्ट्रीय खेल वॉलीबॉल है।

Volleyball me kitne khiladi hote hain | वॉलीबॉल में कितने खिलाडी होते हैं

तो दोस्तो किसी भी outdoor game खेलने के लिए 2 टीमों की जरूरत होती है, वैसे ही वॉलीबॉल के आउटडोर गेम है इसे भी खेलने के लिए 2 टीमों की जरूरत होती है और हरेक एक टीम में 6-6 प्लेयर्स होते है मतलब वॉलीबॉल खेल में पूरे 12 खिलाड़ी होते है दोनो टीम को लेके

Total players in volleyball = 12
In one team number of players = 6

वॉलीबॉल बॉल के नियम

वॉलीबॉल बॉल के तमाम नियम खेलने के तरीके को आपको जानकारी होनी चाहिए ,तो दोस्तो आज हम लोग जानेंगे वॉलीबॉल के कुछ नियम जिससे आपको इस खेल को समझने और खेलने में आसानी होगी और आप अगर इस खेल में future बनाना चाहते हैं , तो आप इस आर्टिकल को अच्छे से पढ़े और समझे क्योंकि आगर आप अच्छे से rule and regulations समझ गए तो आप फिजिकली भी अच्छा करोगे।

  • वॉलीबॉल का मैच दो टीमो के बीच खेला जाता है, दोनों टीमो में 6,6 खिलाड़ी होते हैं और इस गेम में एक जाली का net होता है जो की centre में लगा होता है और दोनो side एक एक टीम होती है।और एक वॉलीबॉल  🏐 होता है जिसे प्लेयर्स खेलते है।और फिर दोनो टिमो के कप्तान के बीच टॉस होता है जो टॉस जीताता है ओ पहले सर्विस करता है, फिर मुकाबला शुरू होता है दोनों टिमो के बीच में।
  • सर्विस करने का मतलब होता है एक खिलाड़ी वॉलीबॉल  को दूसरी टीम के खेमे में फेकता है और खेल शुरू हो जाता है,
  • एक टीम के खिलाड़ी केवल 3 बार ही वॉलीबॉल को छु सकते हैं उसके बाद उनको वॉलीबॉल को सामने वाली टीम के खेमे में फेंकना होता है ताकि उनको पॉइंट मिल सकें।
  • जो खिलाड़ी सामने वाली टीमों से आई बाउल को पहले प्राप्त करता है ओ अपनी टीम के लिए बाउल बनाता है और पास देता है ताकि दूसरे खिलाड़ी उसे अच्छे से पास करके सामने वाली टीम में फेंके और पॉइंट्स ले सके।जिस खिलाड़ी को पास मिलता वह अपनी टीम का सबसे मुख्य खिलाड़ी होता है और वह बाउल को नेट के पास जाके ऐसा बाउल बनाता है जिसे तीसरे खिलाड़ी को स्मैश मारने में आसान होती है।बहुत कम ऐसे खिलाड़ी होते हैं जो स्मैश को रोक पाते हैं, अगर अच्छे से स्मैश मार दिया जाए तो  बाउल को रोकना बहुत मुश्किल हो जाता है।
  • नेट के पास अक्सर टीम लंबे  खिलाड़ियों को रखती है ताकि उसे स्मैश मारने में आसानी हो और स्मैश को ब्लॉक करने में आसानी हो। स्मैश को ब्लॉक करना बहुत मुश्किल काम है वॉलीबॉल में।

वॉलीबॉल में खिलाड़ियों का पोजीशन |Volleyball me khiladiyon ka position

तो दोस्तो जैसा कि आप जानते हैं वॉलीबॉल बहुत ही रोचक गेम है और इसे खेलने में भी ज्यादा मजा आता है।

वॉलीबॉल में खिलाड़ियों की पोजीशन कुछ इस तरह से होती है,वॉलीबॉल टीम में खिलाड़ियों की 5 पोजीशन होती है जिसे ओ खेलते हैं, सेंटर, मिडिल ब्लॉकर्स, आउटसाइड हिटर,वीकसाइड हिटर,लिबरो।

सेंटर का क्या काम होता है

वॉलीबॉल में सेंटर मेन खिलाड़ी होता है जो  नेट के करीब खिलाड़ी के लिए के लिए बाउल बनात है जिससे ओ असानी से स्मैश मार सके और अपनी टीम के लिए पॉइंट्स ले सके, सेंटर का काम होता है बाउल को पास करना और अपने खिलाड़ियों को खिलाना।

मिडिल ब्लॉकर्स का क्या काम होता है

मिडिल ब्लॉकर्स अक्रमक खेल के साथ डिफेंसिव खेल खेलते हैं और ओ सामने वाली टीमों की स्मैश को रोकने का काम करते हैं, अक्सर टीम अपनी टीम में मिडिल ब्लॉकर्स को लम्बे खिलाड़ी रखना पसंद करती है ताकि ओ आसान से स्मैश को रोक सके और स्मैश को मार भी सके।

आउटसाइड हिटर का क्या काम होता है

आउटसाइड हिटर को बाहरी हिटर भी कहा जाता है, ये टीम के अहम खिलाड़ी होते हैं और ये सामने वाली टीमों को चकमा देते हैं और कभी भी अच्छी बॉल देख कर स्मैश मार देते हैं, ये अक्सर कोर्ट की दाय तरफ खड़े रहते हैं।

लिबोरो का क्या काम होता है

लिबरो वॉलीबॉल में बहुत दिलचस्प खिलाड़ी होता है,लिबोरो को ब्लॉक और अटैक करने की अनुमति नहीं होती है ओ अक्सर सब्स्टीट्यूट के रूप में आते  है और डिफेंस की भूमिका निभाते है अपनी टीम के लिए।


वॉलीबॉल में कैसे मिलते हैं अंक ? Volleyball me kaise milte hain points

एक गेम में 5 सेट होते हैं और पहले 4 सेट 25  अ़ंक का होता है,अगर पहले 4 सेट में दनो  टिमो का स्कोर बराबर हो यानी 2,2 का हो तो पांचवा  सेट में 15 अंक का होता है हर रेली टूटने के बाद टीम को एक पॉइंट मिलता है और जिस टीम ने रेली तोड़ा है उसकी टीम को सर्विस करने का मौका मिलता है।

अगर कभी मैच 24,24  बराबर हो जाए या 14,14 पर बराबर हो जाए तो जो टीम लगातार दो  अंक स्कोर करती है वही टीम जीतती है मैच।

वॉलीबॉल में पॉइंट स्कोर करने का एक आम तरीका होता है स्मैश मार के,सबसे ज्यादा इसी तरह से टीमे अंक स्कोर करती है और अपने खेल को आगे बढ़ाती है।

वॉलीबॉल में फाउल कब मन जाता है| volleyball me faul kab mana jata hain

वॉलीबॉल में फाउल तब मन जाता है जब कोई खिलाड़ी स्मैश मारते समय नेट को टच करदे तो फाउल मन जाता है, और अगर कोई खिलाड़ी बाउल को आउट ऑफ कोर्ट मार देता है तो ये भी फाउल मन जाता है,अगर सर्विस करते समय खिलाड़ी का पैर कोर्ट के अंदर आ जाए तो ये भी वॉलीबॉल में गलत माना जाता है।

  • अगर कोई टीम बाउल को दूसरे खेमे में फेंकने में तीन से ज्यादा प्रयास लेती है तो ओ फाउल मन जाता है।

वॉलीबॉल में स्मैश कैसे मारे| Volleyball me smash kaise mare

वॉलीबॉल में स्मैश को बहुत दमदार शॉट कहा जाता है, जो खिलाड़ी इस शॉट को मारने में माहिर है, उस खिलाड़ी को वॉलीबॉल का किंग कहा जाता है।

अगर आपको स्मैश मारना है तो आप सेंटर खिलाड़ी से बात करें और अगर आपके लिए अच्छा बाउल पास कर देता है तो आप आसानी से स्मैश मार सकते हैं, अगर बाउल सेंटर खिलाड़ी ने नेट के पास अच्छे से उछाल दिया तो आसन से स्मैश मार सकते हैं, जब भी आप स्मैश मारने कोसिस करे अपने शरीर को ज्यादा तार हवा में रखिए ताकि आपका पहुंच बढ़ जाए बाउल की तरफ।


वॉलीबॉल कोर्ट का आकार कैसा होता है

FIVB के नियमानुसार

वॉलीबॉल का कोर्ट 18 मीटर(59फिट) लम्बा और 9 मीटर (29.5 फिट) चैड़ा होना चाहिए।कोर्ट को दो भागो में बता जाता है जिस्मे 9 मीटर ( 29.5 फिट) के बाद में बिच में नेट लगया जाता है,नेट का ऊपर हिसा 2.43 मीटर (.97 फिट) की उंचाई पर होता है। ये मेन्स के लिए होता है। 2.24 मीटर (7.35 फिट) की उंचाई महिलाओं के लिए होता है।

वॉलीबॉल का वजन करीब 260-290 चना होता है

FAQ

1.वॉलेबल में कितने खिलाड़ी खेलते हैं?

उत्तर:वॉलीबॉल में एक टीम में 6 खिलाड़ी खेलते हैं, जो अलग-अलग पोजीशन पर खेलते हैं.

2.वॉलीबॉल का वजन कितना होता है?

उत्तर:वॉलीबॉल का वजन 260-290 ग्राम होता है.

निष्कर्ष :-

जैसे कि हमने आपको बताया कि वॉलीबॉल में कितने खिलाड़ी खेलते हैं, और उनका क्या रोल होता है, और हमने आपको बताया कि पॉइंट कैसे मिलते हैं वॉलीबॉल में  इस ब्लॉग को पढ़ लेंगे तो आपको पूरी जानकारी  मिल जाएगी  वॉलीबॉल के बारे में।

 

2 thoughts on “वॉलीबॉल में कितने खिलाड़ी होते हैं | Volleyball mein kitne khiladi hote hain

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *